अधो मुख सवासन अधो मुख सवासन

Categories


दुनिया अस्वास्थ्यकर जीवनशैली का नेतृत्व कर रही है। आपके बैठने की मुद्रा से लेकर आपके शरीर के अंदर जाने वाले खाने-पीने की चीजें ज्यादातर समय अस्वस्थ होती हैं। ये आदतें आपके स्वास्थ्य को खराब कर रही हैं और अस्वस्थ और अनुपयुक्त शरीर की ओर ले जा रही हैं। परिणामों की बात करें तो इस जीवनशैली के परिणामस्वरूप कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, आलस्य, थकान, चक्कर आना, कमजोर पाचन तंत्र, ये आदतें आपके प्रजनन तंत्र और आपकी यौन इच्छाओं और ताकत को भी प्रभावित करती हैं। इसलिए इन सभी विषाक्त पदार्थों से अपने शरीर को डिटॉक्सीफाई करना बहुत जरूरी है। कई पेय आपके शरीर को डिटॉक्स करते हैं। आप प्राकृतिक होममेड डिटॉक्सिफाइंग ड्रिंक्स आजमा सकते हैं। लेकिन यह आपके शरीर को पूरी तरह से डिटॉक्स करने के लिए काफी नहीं है। आपको अपने शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए और अधिक करने की आवश्यकता है। ढेर सारा पानी पीने और डिटॉक्सिफाइंग ड्रिंक्स के साथ-साथ योगाभ्यास करना भी बहुत जरूरी है। योग न केवल आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करेगा बल्कि आपके दिमाग, शरीर और त्वचा को भी फिर से जीवंत करेगा। यह आपके शरीर को सिरे से पैर तक पूरी तरह से ठीक करने का एक तरीका है। इसलिए अपने शरीर के संपूर्ण बदलाव के लिए योग का अभ्यास करना बहुत जरूरी है। स्वस्थ, युवा और सुंदर तन और मन से इस दुनिया में कौन प्यार नहीं करता। लेकिन हर कोई नहीं जानता कि इस पर कैसे काम किया जाए। आपके शरीर और दिमाग को डिटॉक्सीफाई करने के लिए इंटरनेट पर लाखों तरीके दिए गए हैं लेकिन समस्या यह है कि आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प कौन सा है। सभी में से सर्वश्रेष्ठ की खोज करना बहुत कठिन है। अब सवाल यह उठता है कि सबसे अच्छा विकल्प क्या हो सकता है और इसे कैसे खोजा जाए? इस प्रश्न का सबसे सरल उत्तर है yogpath.org पर जाना और बस अपनी स्वास्थ्य स्थिति और आवश्यकता के अनुसार योग आसन की खोज करना। आप अपने वजन को प्रबंधित करने और स्वस्थ जीवन जीने के लिए डिटॉक्स ड्रिंक्स की तलाश कर सकते हैं और अपनी कैलोरी गिन सकते हैं।
यह अस्वास्थ्यकर जीवनशैली विभिन्न शारीरिक समस्याओं की ओर ले जाती है जैसे कि कमजोर रीढ़ की हड्डी जो आपकी पीठ में शारीरिक दर्द का कारण बनती है। लंबे समय तक बैठने से आपकी पीठ, गर्दन, कंधे और रीढ़ में तनाव और अकड़न हो सकती है। एक संपूर्ण शरीर और दिमाग के डिटॉक्सीफिकेशन के लिए, अपने भौतिक शरीर को भी डिटॉक्सीफाई करना बहुत जरूरी है। ऐसा करने के लिए आप सबसे आसान लेकिन बहुत प्रभावी आसनों में से एक, अधो मुख शवासन का अभ्यास कर सकते हैं।
अधो मुख सवासना एक संस्कृत शब्द है। अधो का अर्थ है नीचे की ओर, मुख का अर्थ है चेहरा, सावा का अर्थ कुत्ता और आसन का अर्थ है मुद्रा। इसलिए इस मुद्रा को अधोमुखी कुत्ता मुद्रा कहा जाता है। यह एक खड़ी मुद्रा है और किसी भी आयु वर्ग द्वारा इसका अभ्यास किया जा सकता है।